«

राम राम राम…

1 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 5
Loading...
Uncategorized

डेरा सच्चा सौदा का, हो गया आख़िरी सौदा…

रामरहीम का छिनया, गुरु महान का हौदा…
आशाराम के आश्रमों में, लग गये कैसे जाले…
अब तो ले लो बारी सबकी, तोड़ दो सारे ताले…

ना कोई भी धर्म है इनका, ना कोई ईमान…
अंध श्रद्धा में ना बहो, बचाओ अबला की आन…
कलियुग में पाना ज्ञान, यदि होता यूँ आसान…
तो राम राज्य होता यहाँ, ना होते ऐसे काम…
कर्म ही है पूजा जग में, रहो तुम निष्ठावान…
भारत वर्ष अध्यात्म की भूमि, रक्खो इसकी शान…

– प्रवीण

4 Comments

  1. Kusum says:

    Good one writtten in proper time when the issue is hot topic.
    Best wishes
    Kusum Gokarn

  2. Vishvnand says:

    Sundar sanvedansheel rachanaa, Manbhaayi
    Commends …!

Leave a Reply