« »

कवि का परिचय

1 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 5
Loading...
Uncategorized

ना मेरी कोई जाती है ,ना कोई धर्म
ना मैं अपना उदभव जानती हूँ ना पराभव
अंत तो हुआ है मेरा परन्तु समापन उत्थान की ओर है!
कितनी ही नदियाँ पर्वत और तूफ़ान लाँघ गयी
परन्तु परिवर्तन अभी व् पूर्ण विराम पर है !!

One Comment

  1. Vishvnand says:

    (Y) Sundar abhivyati …! 🙂

Leave a Reply