« »

रेत पर मिले काफिले है

0 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 5
Loading...
Uncategorized

रेतीला होता मरुथल, रेत के ऊँचे टीले है
रेतीली होती हवाये ,रेत में चलकर खिले है

रेत में तपती हवाये ,पस्त होकर लब सिले है
रेतीली होती है नदिया ,रेत से बनते किले है

रेत का उठता बवंडर ,रेत में बसता समंदर
रेत बिन रिक्तिम है दुनिया ,रेत से सपने मिले है

रेत में होती है फिसलन ,होती विचलन पग जले है
रेत के भीतर मिला जल ,कंठ तर जीवन पले है

रेत करती है निरोगी ,रेत पर रहता है योगी
रेतीले बिस्तर पर निंदिया, रेत पर मिले काफिले है

2 Comments

  1. Pink says:

    I love reading these articles because they’re short but inmiofatrve.

  2. Harish Chandra Lohumi says:

    सुन्दर भाव !

Leave a Reply