« »

पर इंसानियत कम है…

1 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 5
Loading...
Uncategorized

ज़िन्दगी ज़रूर लम्बी है
पर ज़िंदादिली कम है…

रिश्तेदार झ्यादा है
पर रिश्तें कम है…

ख्वाहिशें झ्यादा है
पर कोशिशें कम है…

किसीने सच कहा है,
इंसान झ्यादा है दुनियां में
पर इंसानियत कम है…

– CA. AMIT T SHAH
27th September 2015

One Comment

  1. Saavan says:

    Nice poetry… You can publish your poem at saavan.in

Leave a Reply