« »

प्यार पहली नज़र का था पहले.

1 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

अब तो जो है वो सोचा समझा है
प्यार पहली नज़र का था पहले.

अब तो ये आसमां में उड़ता है
ये परिन्दा शजर का था पहले.

ख़ुद में महदूद आजकल सब हैं,
आदमी गाँव घर का था पहले.

फिर हुअा आप से बिछुड़ते ही,
हाल जैसा जिगर का था पहले.

One Comment

  1. Vishvnand says:

    Vaah Vaah Bahut khuub
    aaj kahaan hai vah pyaaraa maahaul
    jo chaayaa idhar udhar thaa pahale …!

Leave a Reply


Fatal error: Exception thrown without a stack frame in Unknown on line 0