« »

नीला टीका

1 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

नीला टीका

लाल …… पीला ……
टीका बहुत लगाया माथे पर,
सौभाग्य की कामना से,
रोली का, चन्दन का, सिन्दूर का,
अपने लिए अपने-जनो के लिए,
इस बार उँगली पर लगाना,
नीला टीका …………….
अपने लिए और देश के लिए भी.
बदलेगी तस्वीर और पूरी होगी,
सौभाग्य की कामना।

सुधा गोयल “नवीन”

3 Comments

  1. sushil sarna says:

    behad khoobsoorat rachna…..is sundr sandeshaatmak rachna ke liye haardik badhaaee Sudha Goel jee

  2. Prem Kumar Shriwastav says:

    Sundar.

  3. P4PoetryP4Praveen says:

    नज़र से बचने के लिए काला टीका…

    और ग़लत हाथ में सरकार को जाने से बचाने के लिए नीला टीका…

    उचित समय पर…अच्छी सीख.

    वाह…बहुत खूब सुधा जी… 🙂

Leave a Reply