« »

नारी स्वातंत्र्य

0 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry, Uncategorized

नारी स्वातंत्र्य का अर्थ
उस महिला के लिए क्या है ?
जो रोज मजदूरी कर जीवन यापन करती है
उसके लिए तो बस इतना ही पर्याप्त है कि
उसे रोज मजदूरी मिल जाए
मजदूरी भी इतनी कि वह अपना और अपने बच्चो का पेट पाल सके
उसका अपनी मजदूरी पर इतना हक़ हो कि
शराबी पति उसकी मजदूरी के रुपये उसके हाथो से न छुड़ा सके
नारी स्वातंत्र्य का मतलब उसके लिए बस इतना है
मजदूरी उसकी मजबूरी न बन जाए
उसे नहीं चाहिए कोई सुख सुविधा
आधुनिक साज सज्जा युक्त परिधान
उसे कहा है सौंदर्य कि अनुभूति
भले ही वह हो अगाध सौंदर्य कि प्रतिमूर्ति
रहने दो सौंदर्य का अहंकार
उन नारी मुक्ति वाहिनियों के पास
जिन्हे बेहद जरुरत है सौंदर्य प्रसाधनो कि
उसके लिए तो बस इतने ही काफी है वस्त्र
जो ढक सके तन और दिला सके सामाजिक सम्मान
झेल लेगी वह मुसीबते रह लेगी वह अभावो के बीच
नहीं चिंता कि उसके पास बहुत बड़ा हो मकान
बस आश्रय के लिए पर्याप्त है छोटी सी छत
यही है उसके लिए नारी स्वातंत्र्य और उससे जुड़े अधिकार

<!–

2 Comments

  1. SN says:

    achchhi lagi

  2. raghav says:

    kamal ki hai bas padhkar prasansha nahi kar raha hu ise padhkar ek sekh bhi aapne saath le ja raha hu ki nasare swatantra ka matlab aakhir hona kya chaye

Leave a Reply


Fatal error: Exception thrown without a stack frame in Unknown on line 0