« »

मैंने प्यार किया, प्यार किया ….! (Geet)

1 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry, Podcast

मैंने प्यार किया, प्यार किया ….!

मैंने प्यार किया, प्यार किया, तुझे है क्या मालूम …
तेरी यादों में, ख्यालों में, मेरा दिल हुआ है गुम ……
मैंने प्यार किया ..…

तेरी यादें आस दिलातीं, मुझको मेरे गम में,
तेरी यादें राह दिखातीं, मुझको हर मुश्किल में …
मैंने प्यार किया, प्यार किया,
तुझे है क्या मालूम …

ना कभी होता अकेला, तू जो है सांसों में,
ना मेरा जीवन सँवरता, तू न गर राहों में ….
मैंने प्यार किया, प्यार किया,
तुझे है क्या मालूम …

गीत गाता हूँ तेरे मैं, हर खुशी और गम में,
मदभरी मुसकान तेरी, हर मधुर सरगम में
मैंने प्यार किया, प्यार किया,
तुझे है क्या मालूम …

तेरी यादों में, ख्यालों में,
मेरा दिल हुआ है गुम ……
मैंने प्यार किया …….!

” विश्व नन्द “

3 Comments

  1. sushil sarna says:

    गीत गाता हूँ तेरे मैं, हर खुशी और गम में,
    मदभरी मुसकान तेरी, हर मधुर सरगम में
    मैंने प्यार किया, प्यार किया,
    तुझे है क्या मालूम …
    तेरी यादों में, ख्यालों में,
    मेरा दिल हुआ है गुम ……
    मैंने प्यार किया …….!..waaaaaaaaaaaaah waaaaaaaaah….behad khoobsoorat rumaaniyat bhara geet…ati sundr…haardik badhaaee SIR jee

  2. teri yaade rah dikhati mujhko har mushkil mai ..achcha geet hai badhai

Leave a Reply