« »

अब सार्थक करो उपाय

3 votes, average: 3.67 out of 53 votes, average: 3.67 out of 53 votes, average: 3.67 out of 53 votes, average: 3.67 out of 53 votes, average: 3.67 out of 5
Loading...
Uncategorized

मुद्रा बाजार मे है गिर रही, भारतीय रुपये की साख,
बैठे है अर्थशास्त्री सरकार संग, बंद किये हुये आँख,

“सोने” की चिडियाँ को, “गिरवी” के जाल से न पकडा जाये
गुलामी की जंजीर मे, देश को फिर से न जकड़ा जाये

घौटालों की रकम पर फिर ,जरा गौर फरमाया जाये
ठण्डी अर्थव्यवस्था को, उन पैसों से गरमाया जाये

विनय है इनसे सुरेश की, अब सार्थक करो उपाय,
विदेशों मे जमा जो काला धन, वो वापस आ जाये,

देश उबरे आर्थिक मंदी से “रुपया” भी मजबूती पाये,
अर्थव्यवस्था की डूबती नैया को, किनारा मिल जाये

सुरS

4 Comments

  1. Vishvnand says:

    “विनय है इनसे सुरेश की, अब सार्थक करो उपाय,
    विदेशों मे जमा जो काला धन, वो वापस आ जाये,”
    aisee kyaa hai chaah aapkii kaise ham kar paaye
    kyaa jis daalii par ham baithe use hii kaataa jaaye…. ? 🙂

    sundar marmik rachanaa
    hardik badhaaii

    • Suresh Rai says:

      सादर आभार सर जी,
      मेरा ये सोचना है कि यदि विदेशों मे जमा काला धन वापस लाने के सार्थक प्रयास किये जाये और हम ला पायें तो निश्चय ही अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी.

      • Vishvnand says:

        सुरेश जी आपका सोचना बिलकुल सही है . मैंने तो मजे में उनकी ओर से जवाब दिया है जिन्हें आप ये पैसे वापस ले आने का विनय कर रहे हैं
        “ऐसी क्या है चाह आपकी कैसे हम कर पाए
        क्या जिस डाली पर हम बैठे उसे ही काटा जाए …. ?” 🙂
        यही काला कामाया पैसा लगता आज इनकी ताकत है…. !

Leave a Reply