« »

” मेरी तमन्ना “

1 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 5
Loading...
Uncategorized

बनुं मे उनके सुख का कारण, मुझसे कोई भूल न हो

उन बिन जीवन ऐसी बगिया, जहाँ एक भी फूल न हो

जिस दुआ मे नही वो शामिल, वो दुआ मेरी कबूल न हो

कलियों को उनकी राह बिछाउं, जिसमे एक भी शूल न हो

उनके लिये वहाँ घर बनाउं, जहाँ गली मे उडती धूल न हो

कर्ज सा हो उन पर मेरा प्यार, ब्याज बढ़े, कम मूल न हो

किश्ते वो सदा पूरी चुकायें, जीवन भर कर्ज वसूल न हो

विश्वास की डोर मे बंधे रहें हम, फरेब उनका उसूल न हो

समर्पण पुष्प से भरा हो दामन, स्वार्थ का उसमें बबूल न हो

सुरS

2 Comments

  1. Vishvnand says:

    rachanaa manbhaavan bhaavpoorn aur sundar hai
    magar kaii jagah lay(rhythm) me inconsistency hai
    jise sudhaarane kasane kii jaroorat hai

    • Suresh Rai says:

      धन्यवाद सर जी. मैं इसमे सुधार की कौशिश करुंगा.

Leave a Reply