« »

——— दोस्ती को प्यार का नाम दीजिये ———-

0 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 5
Loading...
Uncategorized

है गुजारिश आप से एक काम किजिये /
दोस्ती को प्यार का नाम दीजिये /
तन्हाईया तुझे भी करती तो है बैचेन ,
जानकर भी यू ना अन्जान बनिये /
दिलों में ना रही है जब कोई दुरिया ,
रिश्ते को अपने कोई तो अंजाम दीजिये /
तुम मेरे हो मुझको गैरों से क्या पड़ी ,
मुझको चाहे जितना बदनाम किजिये /
दिलभर मै तुझको आज रोकु ना टोकूंगा ,
पूरे चाहे मन के अरमान किजिये /
मैखाना भी है तेरा ,साकी को ना गिला ,
तो शौक से लबों के तू जाम पीजिये //

2 Comments

  1. Vishvnand says:

    वाह वाह
    रचना मन भायी

    बहुत बेताब अब हैं हम कुछ ऐसा काम तो करिए
    दिखा कर कुछ अदा अपनी हमें बेहोश तो कीजे

  2. Narayan Singh Chouhan says:

    बहुत बहुत धन्यवाद विश्व्नान्दजी

Leave a Reply