« »

मुझे तू अब भी याद आती है

0 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 5
Loading ... Loading ...
Hindi Poetry

मुझे तू अब भी याद आती है
मुझे तू अब भी सताती है
तेरी वो संदली खुशबू
अब भी मेरे बिस्तर से आती है

आज भी नींद खुलते ही
तेरे पास होने का अहसास होता है
आज भी तेरे ना होने पर
तेरे को खोने का अहसास रहता है

बात अभी कल की ही है
मेरे खाव्ब मे तू मिलने आई थी
और खाव्ब मे भी तुझे पा कर जैसे
मेरी दुनिया मे बहार आई थी

नींद खुलते ही उन खाव्बो से
दिनभर एक खुशनुमा अहसास रहता है
कभी मुस्कुराता है तुझे सोचकर
कभी दूरी सोचकर दिल उदास रहता है …….

2 Comments

  1. SN says:

    achchhi lagi.

  2. Vishvnand says:

    बयाँ सुन्दर भावनाओं की अनुभूति का है
    ओ! सनम तेरे सिवा दुनिया में रक्खा क्या है … :)

Leave a Reply