« »

deepawali hai deepo ka tyohaar

0 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

दीपावली  है दीपों का त्यौहार

 

दीपावली, दीपों का त्यौहार ,

लाता खुशियाँ ढेर अपार ,

आता साल में एक ही बार ,

लगता है ये सबको प्यारा,

रोशनी से भरता गगन को ,

बच्चे लड़ी, पटाखे और फूलझड़ी जलाते हुए,

मिठाई, मेबे ,खील बताशे और खाते हुए,

तरह-तरह के व्यंजन बनाती मम्मी,

बच्चे पुरे उत्साह से भरपूर ,

दीवाली धूमधाम से मनाते हुए ,

दुश्मन भी हाथ मिलाते हुए ,

दोस्त गले मिलते हुए ,

नए-नए कपडे पहने बच्चे ,

लक्ष्मी-गणेश पूजा करती मम्मी,

गिफ्ट बाटते आस-पडोसी ,

दीपावली खुशियों का  त्यौहार ,

यही तो है मेरा सबसे प्रिय त्यौहार

ज्योति चौहान

सेक्टर-२२, नॉएडा

          jyotipatent@gmail.com

2 Comments

  1. Vishvnand says:

    वर्णनयुक्त अच्छी रचना दीपावली पर ज्योति की
    हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दीपावली की …

  2. rajendra sharma 'vivek' says:

    अच्छी रचना के लिए बधाई

Leave a Reply