« »

Me khush hu

0 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

मैं खुश हु

 

जिन्दगी है छोटी,

मगर हर पल में खुश हूँ,

स्कूल में खुश हु ,घर में खुश हूँ,

आज पनीर नही है, दाल में ही खुश हूँ

आज कार नही है, तो दो कदम चल के ही खुश हूँ 

आज दोस्तों का साथ नही ,किताब पके   ही खुश हूँ

आज कोई नाराज है उसके इस अंदाज़ में भी खुश हूँ

जिसे देख नही सकती उसकी आवाज़ सुनकर ही खुश हूँ 

जिसे पा नही सकती  उसकी याद में ही खुश हूँ

बीता हुआ कल जा चूका है,

उस कल की मीठी याद में खुश हूँ

आने वाले पल का पता नही, सपनो में ही खुश हूँ

मैं  हर हाल में खुश हूँ

ज्योति चौहान 

                                                                          सेक्टर-२२, नॉएडा

                                                                   jyotipatent@gmail.com 

 

 

 

One Comment

  1. Vishvnand says:

    बहुत बढ़िया अभिव्यक्ति और सुन्दर रचना
    हार्दिक बधाई देने मैं भी बहुत खुश हूँ
    commends

    ज़रा कुछ गल्त छपे शब्द सुधारने की ओर ध्यान दें. सुन्दर रचना में अखरते हैं…

Leave a Reply