« »

Baba Ramdev

1 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

बाबा रामदेव

जलाया है तुमने जो चिराग,
कसम तुम्हारी हम जलाये रखेंगे,
ओ.. गेरूआ धोती वाले बाबा,
हम तेरी कसौटी पर खरे उतरेंगे…….

भागीरथी प्रयास से, योग की गंगा बहाई
कपाल-भाति और अनलोम-विलोम
की…… सर्वदुःखहारी राह दिखाई
दुःख-कश्ट से हम, किसी को मरने न देंगे……..

ओ.. गेरूआ धोती वाले बाबा,
हम तेरी कसौटी पर खरे उतरेंगे……

विलुप्त-प्राय जड़ी-बूटियों पर,
कर अनुसंधान, श्रृद्धा बहुत जगाई
असमर्थ, निर्धन भी, कर रहे हैं सौदाई
विश्व-गगन में, तेरी विद्या संग, हम लहरेंगे………

ओ.. गेरूआ धोती वाले बाबा,
हम तेरी कसौटी पर खरे उतरेंगे……

हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई,
निर्बल, निर्घन, धोबी और चमार,
तेरे शिविर में सभी जनों की, होती भीड़ अपार
वर्ग, जाति, औ’ धर्म से उठकर, जीना हम सीखेंगे….

ओ.. गेरूआ धोती वाले बाबा,
हम तेरी कसौटी पर खरे उतरेंगे……

सुधा गोयल ’’नवीन‘‘

8 Comments

  1. Vishvnand says:

    बहुत सुन्दर रचना लगी भावपूर्ण और अर्थपूर्ण
    हार्दिक अभिवादन है प्रशंसनीय और धन्यवाद्पूर्ण

    अब जरूरत है जनता को अन्ना हजारे और बाबा रामदेव
    जैसों को ही आज के जमाने के देवदूत समझना
    उनके देशहित और जनहित के कार्यों में अपना पूर्ण समर्थन देना
    उनके चलाये हर अभियान और आन्दोलन में सर्वशक्ति से शामिल होना
    फिर देखो मुश्किल नहीं देश को रामराज्य की तरफ ले जाना
    और आज की इन घातक सी सारी दुष्ट वृतियों का देश से चकनाचूर होना

    • Narayan Singh Chouhan says:

      @Vishvnand,
      अन्नाजी और बाबा रामदेव में अंतर है जमीं आसमान का /
      अन्नाजी ने तजा सब ,ये छद्म योगी ,भोगी है मान का /
      बारह दिन अनसन ने भी ,बाल किया ना बाका /
      और ये चार दिनों में ही ,अगल बगल में झाका /
      असली योगी कोंन है तुम्ही फर्क अब करना /
      उनका लोकहित में ,इनका स्वहित में था धरना /

      • Vishvnand says:

        @Narayan Singh Chouhan
        अपना अपना ख़याल है जैसा मानकर चलें
        मैंने माना है आज तक बड़ा प्रशंसनीय और इक कमाल है
        बाबा रामदेव ने जो देश और भारतीय संस्कृति के लिए किया है
        बाबा रामदेव जी की भी मांग भ्रष्टाचार के खिलाफ सही थी
        सरकार की और श्री क. सि. की भ्रष्ट और चालाख राजनीति थी
        जिसमे बाबा फंसे ये ज्ञानी जनता के लिए भी काफी स्पष्ट है
        हम अन्ना हजारे और बाबा रामदेव को आज के देवदूत मानकर चलें
        इसमें ही लगती भलाई है अगर भष्ट सरकार और भ्रष्टाचार से मिलजुल लड़ने हैं चले .
        इनमे फूट ड़ाल जनता को बिखराना सरकार की बड़ी चाल हो भले …

        • Narayan Singh Chouhan says:

          @Vishvnand,
          माफ़ करे विश्वन्दजी ..
          मेरा ऐसा कोई ध्येय नही है .. और आपके पास हमसे ज्यादा अनुभव है … परन्तु रामदेवजी की कथनी और करनी में अंतर अपने भी महसूस किया होगा /

          • Vishvnand says:

            बाबा रामदेव के बारे में मैंने अपने personal experience से कहा है. उनने सिखाये प्राणायाम और योग से मैंने बहुत फ़ायदा महसूस किया है. उनका इतना बड़ा कार्य और उनके विचार भारतदेश और देशवासिओं के लिए मुझे बहुत अच्छे और हम सब की वैचारिक उन्नति के लगते हैं . मैं उनके विचारों से पूर्ण सहमत हूँ और उनके कार्य का गौरव करता हूँ . क्या आपका कोई इसके विपरीत personal experience है या आपका उनके बारे में ऐसा सोचना सिर्फ इक perception है?

      • sudha goel says:

        @Narayan Singh Chouhan,
        चौहान साहब
        मेरे मन में रामदेव जी के लिए आदर उनकी यौगिक आध्यात्मिक और आयुर्वैदिक उपलब्धियों के लिए है न की राजनितिक. कृपया उसी अर्थ में लें.
        सुधा.

        • Narayan Singh Chouhan says:

          @sudha goel,
          माफ़ करना सुधाजी ,
          यदि आपके दिल को ठेस पहुची हो … मेरा ये मकसद नही था /
          में भी रामदेवजी का अनादर नही करता हूँ , परन्तु
          आह घुटन को दिल में दबा कर बस उलहना देता हूँ /
          मन को जो भी छू जाता है कविता में बस कह जाता हूँ /

    • sudha goel says:

      @Vishvnand,
      धन्यवाद विश्वनंद जी
      बिलकुल इन्हीं विचारों से प्रेरित है मेरी रचना.
      सुधा.

Leave a Reply