« »

दोस्त with दोस्ती ……:D

5 votes, average: 4.00 out of 55 votes, average: 4.00 out of 55 votes, average: 4.00 out of 55 votes, average: 4.00 out of 55 votes, average: 4.00 out of 5
Loading...
Apr 2011 Contest

दोस्ती १ एहसास ह अंदाज नही,
दोस्ती तो विश्वास ह बकवास नही,
सच्ची  दोस्ती  की ह कई मिसालें,
इससे जुडी ह न जाने कितनी कहावतें,
सच्चा दोस्त पाना आसान नही होता,
दोस्तों पे भरोसा भी उ ही नही होता,
दोस्त तो कई होते ह पर सच्चे दोस्त बड़ी मुस्किल से मिलते ह,
जिंदगी भर जो साथ रहे  ये रिश्ता ऐसा होता ह,
सच्चे  दोस्तों पे विश्वास उ ही हो जाता ह,
दोस्त को दुखी देखकर ये दिल बहुत रोता ह,
दिल चाहता ह उसके सारे दुःख ले लूँ,
अपनी  सारी खुशियाँ उसपे निउचावर कर दूँ,
ये तब होता है जब होता है  सची दोस्ती का एहसास,
सच्चे दोस्त हो तुम्हारे यदि तो उन्हें कभी मत छोरना,
और न कभी अपनी दोस्ती को तोरना!!!!!

6 Comments

  1. nik says:

    really its true….i like ur thoughts.

  2. Vishvnand says:

    प्रयास अच्छा है पर
    हिंदी शब्दों की बहुत सी गलतियां हैं.
    कृपया पहले उन्हें ध्यान से समझ एडिट कर सुधार लीजिये
    रचना की इस अवस्था में तो rating 2 star ही होगी ( Needs improvement )…

  3. ishu says:

    maine apni taraf se galtiyan sudharne ki koshish ki h,aapko ydi phir lge ki galtiyan h to mujhe btaaiyega…..mujhe jankr kushi hogi……

    • Vishvnand says:

      @ishu
      गल्तियाँ ….
      १ = एक या इक
      ह = है ( हर जगह आप है को ह लिखते हैं )
      उ = यूं
      मुस्किल = मुश्किल
      निउचावर = निछावर
      सची = सच्ची
      छोरना = छोड़ना
      तोरना = तोड़ना

  4. ishu says:

    thanks nik…

  5. puru says:

    सही कहा तुमने सच्चे दोस्तों को कभी नही छोरना चाहिए……

Leave a Reply