« »

सूरमा भोपाली का राग भोपाली

6 votes, average: 3.33 out of 56 votes, average: 3.33 out of 56 votes, average: 3.33 out of 56 votes, average: 3.33 out of 56 votes, average: 3.33 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

(जबसे हमारे भोपाल के माननीय मुख्यमंत्री जी ने भोज उत्सव में भोपाल को भोजपाल करने की घोषणा की है, तबसे हर भोपाली के दिल में बस एक ही सवाल है. बस एक ही बात खटक रही है, कि मंत्री जी ने बिना भोपाल की जनता के सलाह-मशवरे के कैसे ऐसा सोच लिया? इसी दर्द को शब्द देने का प्रयास मैंने अपनी इस रचना के माध्यम से किया है. कृपया सिर्फ़ भोपाली ही नहीं हर भारतवासी अपना बहुमूल्य समय एवं कमेन्ट इस रचना पर अवश्य दें. हो सकता है यहीं से कुछ सन्देश सही जगह पहुँच सके.)

 

प्रिय मंत्रीजी ना करो  ऐसा कोई कमाल,

कि हो जाये झीलों की नगरी यूँ ही बेहाल,

बीपीएल को बीजेपी* करने की ये चाल.

करो प्रयास उन्नति के, ना करो व्यर्थ के काम,

कर देने से क्या होता राम को घनश्याम?

नाम बदलने से ना होगा कोई चमत्कार,

“भोजपाल” सुन-सुन हो लेंगे भोपाली बीमार.

 

करो उत्थान समाज का, करो ग़रीबों की सहाय,

भूखे पेट जो सोते हैं, ना फूटी कौड़ी हैं कमाय.

संत कबीर अब ना रहे, जो देते दुखड़ा गाय,

भोपाल ही है सही अर्थ, भोपाली जिसमें समाय.

 

करो कार्य यश गान गाओ, राजा भोज के गुणगान सहित,

करो स्थलों के नाम बदल, ना करो शहर का नाम कथित.

हँसाओ किसी रोते को, थामो ऊँगली निसहायों की.

तुकबंदी तकियाकलामों का शहर, भोपाल संग है भोपाली,

आशा करते सब भोपाली, न आये रात ऐसी काली.

 

भोजपाल न हो नाम कभी, बाइज्ज़त है गुहार यही,

ले लो सलाह कर लो वोटिंग, सुनो शहर क्या कहता है?

भोपाल के बच्चे-बच्चे के दिल, सुनो पल-पल क्या धड़कता है?

आख़िर मंत्री भी तो जनता से ही है होता,

फिर क्यूँ कुछ कहने से पहले आपने न कुछ है सोचा?

 -प्रवीण

 

(*fact : short form of Bhopal is BPL and Bhojpal will be BJP.)

40 Comments

  1. siddha Nath Singh says:

    जब जड़ पर वार न संभव हो पत्तों पर हिना लगते हैं ,
    दुःख के दरख़्त को इस ढब से वो सुख का वृक्ष बनाते हैं ,
    बलिहारी ऐसे नायक की जो नालायक लगते ज्यादा
    जो मुद्दे कहीं नहीं होते वो मुद्दे सिर्फ उठाते हैं .

    • P4PoetryP4Praveen says:

      @siddha Nath Singh, क्या सटीक बाण चलाया है आपने सिद्ध नाथ जी…मज़ा आ गया… 🙂

      तहेदिल से शुक्रिया आपका… 🙂

  2. dp says:

    अब कहाँ रहे वो मुख्यमंत्री अब तो मुखमंत्री हो गए हैं, भोजन के अलावा और सूझता ही क्या है इनको ? चाहे वह किसी भी प्रकार का हो .
    देखिये आगे होता है क्या-क्या 🙂

  3. Amit Dubey says:

    are wah praveen kya kavita leeki hai ……..padkar seedhe dil mein utar gayi

  4. Amit Dubey says:

    are wah praveen kya kavita likhi hai ……….seedhe dil mein uttar gayi 🙂

  5. MEETA says:

    awsum yrr …bahut sahi …
    gud work…
    a jovial taunt on the government .. ;))))

  6. Vishvnand says:

    बहुत सटीक प्रभावी रचना
    नेताओं की फैलती बीमारी पर ….
    नाम बदलना का बहकावा अब बस हो गया नेताओं और पार्टियों को अब ठोस development का कार्य कर दिखाना होगा वरना बारह के भाव जायेंगे ……

    जब मंत्री नेता को लगता जनता ने उन्हें भुलाया है
    तब तब जनता को भड़काने उटपटांग कुछ कहता है
    स्वतन्त्रता के बाद अगर भारत ने समय गंवाया है
    नाम बदलने की बहस और राजनीति ने पहला नंबर पाया है
    नाम बदलना बस हो गया जनता उन्हें सिखाएगी
    ठोस काम की मांग करेगी वरना रस्ता उन्हें दिखायेगी …..
    नाम बदलना नहीं जरूरी बहकावे में नही आवेगी

    • P4PoetryP4Praveen says:

      @Vishvnand, वाह दादा, क्या बात है…आपकी रचना मुझे अच्छी लगी… 🙂

      आपके प्रेरक शब्दों से ही तो बल मिलता है कुछ लिखने का…अवश्य ही सफल होगा उद्देश्य हमारा… 🙂

      भोपाल के लाखों शुभचिंतक इस अभियान में मेरे साथ हैं…हम ज़रूर कामयाब होंगे…

  7. satish mehta says:

    प्रवीण,
    तुम न केवल एक अच्छे एक्टर हो बल्कि तुम में अच्छे कवि की संभावनाएं भी छिपी है. इसी तरह लगे रहो ,बहुत नाम करोगे. अनेकानेक शुभ कामनाएं.

    • P4PoetryP4Praveen says:

      @satish mehta, बस इसी तरह अपना आशीर्वाद बनाये रखिये….आपका मार्गदर्शन एवं प्रेरक शब्द बहुत महत्वपूर्ण हैं मेरे लिए… 🙂

      आपके स्नेह की छत्र छाया इसी तरह मिलती रहे…बस यही मनोकामना है… 🙂

  8. satish mehta says:

    प्रवीण,
    तुम न केवल एक अच्छे एक्टर हो बल्कि तुम में अच्छे कवि की संभावनाएं भी छिपी है. इसी तरह लगे रहो ,बहुत नाम करोगे. अनेकानेक शुभ कामनाएं

  9. arshad khan says:

    pratibha ko paramatsh ki awayshakta nahi,
    tum dil say or bohot acha likhtay ho….
    pleasee keep going on………………………….Arshad.

    • P4PoetryP4Praveen says:

      @arshad khan, बहुत-बहुत शुक्रिया आपका अरशद साहब… 🙂

      मेरी अन्य रचनाओं पर भी आपके विचार जानना चाहूँगा… 🙂

  10. Godwin John Raphael says:

    Nice poem,you have write the truth that they want to make BPL(Bhopal) to BJP(Bhojpal)….

    • P4PoetryP4Praveen says:

      @Godwin John Raphael, Thanks a lot for your appreciation and support dear Mr. Godwin… 🙂

      But nobody can change Bhopal…if we all will think abt it positively and participate in shanti march on 12th @ 4:00pm… 🙂

  11. Godwin John Raphael says:

    Nice poem,you write the truth that they want to make BPL(Bhopal) to BJP(Bhojpal)

  12. Harish Chandra Lohumi says:

    आपके कद्रदानों के आगे हमारी प्रतिक्रिया फ़ीकी पड़ जाती प्रवीण जी ! इस लिये प्रतिक्रिया निकलने से डर रही है 🙂
    सोचा कि पहले कद्रदानों की सूची में नाम लिखवा लूँ 🙂

    • P4PoetryP4Praveen says:

      @Harish Chandra Lohumi, हरीश जी, क्यूँ शर्मिंदा करते हैं? आप तो हमारे सितारा कवि हैं…और हमारे दिल के काफ़ी क़रीब हैं…ऐसी बात कर दिल न तोड़िए… 🙂

  13. chetna says:

    सार्थक प्रयास बंद आँखें खोलने का….. बधाई
    (दूसरा पैराग्राफ अत्यंत मोहक लगा)

    चेतना

    • P4PoetryP4Praveen says:

      @chetna, आपका हृदय से बहुत-बहुत आभार चेतना जी…आपके नाम को चरितार्थ करने का छोटा सा प्रयास कर रहा हूँ…”चेतना” लाकर…देखते हैं आगे क्या होता है…सफलता तो तभी मिलेगी जब सही दिशा में कार्य होगा…और भोपाल और भोपाली कभी ना बदलें… 🙂

      आशा करता हूँ आप सभी का प्यार और सहयोग बना रहेगा…न सिर्फ़ भोपाली बल्कि हर भारतवासी एकजुट जो हो गए हैं… 🙂

  14. Sulabh Jain says:

    I strongly oppose the ridiculous initiative of the MP Govt. Instead of putting their brains in these idiotic efforts, those so called “Janta ke Sewaks” (or the “Blood Suckers”, to be precise) in the Ministry should try for some betterment of people and social welfare.

    Bhopal is an international identity, although defamed because of Gas Tragedy, but people know Bhopal. I have been living out of India for over 3.5 years, and whenever I told people that I am from Bhopal, 90% of the time people knew it because of BGT.

    Who is gonna pay for the money required for changing the name? Govt? that would again be an additional burden on “AAM AADMI”?

    Who guarantees that after changing the name there will be harmonious follow-on of the changed name. Is the MP Govt. sure that this initiative will not give rise to the birth of insane idiotic politicians like Raj Thankrey and Pramod Muttallik in Bhopal?

    Praveen Ji, I respect and admire your poem and I hope ki Mp Govt. ye naam badlne ki jagah kuch productive kaam me apna time lagaye. I and everyone else who opposes the name changing initiative are with you.

    • P4PoetryP4Praveen says:

      @Sulabh Jain, You are absolutely right Sulabhi ji… 🙂

      Thanks a lot for your appreciation and awareness on this burning issue. We all are participating in “Shanti March” on 12th…and I’m sure Bhopal will always be Bhopal….nobody can ever change name and hurt Bhopal’s fame… 🙂

      Again thanks…

  15. kishan says:

    bahut khub bhai preveen 🙂 jai shree krishna

    • P4PoetryP4Praveen says:

      @kishan, Jai Shree Krishna Kishan bhai… 🙂

      જોયું તમે? અમારા મુખ્યમંત્રી શૂં કરી રહ્યા છે? તમારા ગુજરાત જેવા મુખ્યમંત્રી હોવા જોઈએ અહીં પણ… 🙂

      Thanks a lot for your appreciation Kishan bhai… 🙂

  16. Dr Prem says:

    बधाई हो प्रवीण भाई जान,
    किया कहते हैं गेट उप बढ़िया बनाये हो, पर जे भी बताओ की भाई जान यदि नाम में कछु न होए तो म्हारे देस को इंग्लिस मी इंडिया और बाकि भाषा में भारत कियों कहते हैं.
    जे सरे लोग अपने नाम के आगे गाँधी कियों लगाये हैं………..?
    फिरोज, इंदिरा, राजीव,सोनिया, राहुल,सीमान्त, ………………..?

    • P4PoetryP4Praveen says:

      @Dr Prem, सबसे पहले बधाई के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद्… 🙂

      डॉक्टर साहब, हम और आप तो सिर्फ़ एक एप्लीकेशन और सार्वजनिक सूचना लगाकर अपने नाम बदल सकते हैं और उससे शायद कोई ख़ास फ़र्क़ भी ना पड़े…लेकिन किसी शहर का नाम जो उसकी पहचान हो…और उससे भी कहीं ज़्यादा शहर एवं देशवासियों की जान हो…तो उसे यूँ ही कैसे बदला जा सकता है?

      वैसे भी अगर आपको पता हो तो…एक शहर का नाम बदलने में करोड़ों-अरबों रुपये बेकार भी होते हैं…और उसे वसूला जाता है हम और आप से ही…क्या ये सही है? न्याय है? और अगर सरकार के पास इतना सारा अतिरिक्त धन है तो क्यूँ न इसे जनता की सेवा में ही लगाया जाए?

      और हमारे देश को सिर्फ़ इंडिया और भारत ही नहीं हिन्दुस्तान भी कहते हैं…वैसे हम सभी देशभक्त भारत माँ कहकर इसे सबसे ज़्यादा इज़्ज़त भी देते हैं…ऐसे शायद विश्व के किसी देश में नहीं होता…इसीलिए तो हमारा भारत महान है…और महान बनाये रखने का प्रयास किया जा रहा है…आप जैसे शुभचिंतकों का साथ रहा तो ये उद्देश्य पूरा भी होगा… 🙂

  17. gargi says:

    बहुत खूब प्रवीणजी !
    किन शब्दों में आपको बधाई दी जाये समज में ही नहीं आता…
    इसे तो भोपाल के मुख्यमंत्रीजी तक पहोचानी ही चाहिए.. 🙂

    હોય શકે આ વાંચ્યા પછી તમારા મુખ્યમંત્રી પણ આમારા મુખ્યમંત્રી જેવા બની શકે…. 🙂

    Good one again n congrats सुरमा भोपाली…! 🙂 😉

    • P4PoetryP4Praveen says:

      @gargi, आपका बहुत-बहुत धन्यवाद् गार्गी…आशा है मेरे शब्दों की गूँज 12 मार्च को माननीय मुख्यमंत्री जी को सुनाई दे… 🙂

      प्रोत्साहन एवं प्रशंसा के लिए एक बार फिर से आपका हृदय से आभारी हूँ… 🙂

  18. gargi says:

    And ya very remarkable concept n design… you made..Dear! keep it up.. 🙂 I hearty wish that your purpose for this poem will fulfill soon…!

    • P4PoetryP4Praveen says:

      @ritesh, Thanks a lot for your appreciation, complement & support Ritesh ji… 🙂

      And today is the day when every Bhopali will be togeter for this mission…remember? 12th March, “Shanti March” at VIP road…@ 4:00pm… 🙂

  19. P4PoetryP4Praveen says:

    आख़िरकार केंद्र सरकार ने इतने इंतज़ार के बाद “भोपाल” को “भोजपाल” करने वाली याचिका को ख़ारिज़ कर दिया है. सभी भोपालियों एवं भोपाल प्रेमियों को बहुत-बहुत बधाई…और इसी के साथ यह इस रचना की भी बहुत बड़ी सफलता है…आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद्… 🙂

    P4P rocks!!! 🙂

    • Vishvnand says:

      @P4PoetryP4Praveen
      यह जीत जानकार जितनी खुशी हुई वर्णन कठिन है
      एक के बाद एक यूं ही सबक सिखाते रहना अपना अब कर्तव्य है
      बस अब इसी जीत और बात पर आपसे रच जाए इक रचना ये भी प्यारा निवेदन है
      प्यार की इस हार्दिक बधाई में हम भी आनादित हो शामिल हैं

Leave a Reply