« »

तेरी याद

2 votes, average: 2.50 out of 52 votes, average: 2.50 out of 52 votes, average: 2.50 out of 52 votes, average: 2.50 out of 52 votes, average: 2.50 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

आज फिर तेरी याद आई,

दिल मै दर्द और प्यार लिए

, तुझे पूछने कई सवाल ,

 आज फिर तेरी याद आई, 

 जानना चाहता हु मै  के

 क्या तुझे  तडपती नहीं वो राते , 

 जो हमने साथ गुजारी थी ,

  क्या दिल तेरा डूबता नहीं, 

 मुझसे यु दूर जा कर

,   तेरी यादो के आगोश मै

   मेरा दिल डूबता जाता है ,

 दर्द का एक सैलाब ,

 जिस्म को चीरता जाता है

4 Comments

  1. Harish Chandra Lohumi says:

    कई जगहों पर सुधार की गुन्जाइश लग रही है अजय जी !
    प्रयास अच्छा लगा !

  2. Aditya ! says:

    अच्छा प्रयास.. आप इससे बेहतर लिख सकते हैं 🙂

  3. Vishvnand says:

    अच्छी रचना पर छपे हिंदी शब्दों में गल्तियाँ भी काफी हैं .जिन्हें एडिट कर ध्यान से सुधारना जरूरी है …

Leave a Reply


Fatal error: Exception thrown without a stack frame in Unknown on line 0