« »

बिक गया एक और दूल्हा !

3 votes, average: 3.33 out of 53 votes, average: 3.33 out of 53 votes, average: 3.33 out of 53 votes, average: 3.33 out of 53 votes, average: 3.33 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

लाला जी मन मे  मुस्काए  जब घर मे  आया लल्ला ,

दी बधाई बीवी को और गिफ्ट किया इक छल्ला  !

दादा जी घूम-घूम के सब से थे बतियाते ,

अपने घर का नया ‘प्रॉडक्ट” बड़े चाओ से दिखलाते !

घर मे  मना खूब जशन  और खूब छनि मिठाई ,

लोगो की मौज भई और दे गये ढेर बधाई  !

लल्ला पे खूब खर्च किया पर रखा था हिसाब ,

अपना अकाउंट अपडेट करने को बना रखी थी किताब !

फिर आया वो दिन जिसका सब को था इंतज़ार ,

शादी का ऐड पोस्ट किया पेपर मे और आए खत हज़ार !

एक से बढ़ कर  एक रिश्ते   घूम -घूम के आते ,

कोई लगाता छोटी बोली  कोई बड़े नोट दिखलाते !

लाला जी लगा रहे हिसाब की कितनी लगाऊं  बोली ,

जिससे ज़्यादा  प्रॉफिट होवे  उसी की आए डोली !

किसे ने ना पूछा  लड़की से की, क्या तू है चाहे ,

क्या कोई लड़का है जो तेरे मन को भाये !

उसकी किस्मत मे  लिखी क़ैद और जन्म जन्म  का चुलाह ,

इस तरह से देखो भईया बिक गया एक और दूल्हा !

डॉक्टर राजीव श्रीवास्तवा

11 Comments

  1. renukakkar says:

    nice poem….in the 8 types of marriages during ancient times, a father bought a dullha for a handicapped daughter…..

  2. Vishvnand says:

    रोचक अर्थपूर्ण विवरण
    अच्छी रचना हालत कठिन
    बधाई

    आशा है ससुर को मिले भगवत कृपा से ये बहू कुछ ऐसी
    कि घर आकर अपने व्यवहार से कर दे इन सारों की छुट्टी

  3. amit478874 says:

    Hi Rajeev..Nice poem..! How r u? Nice to read that one..! कई दिनों के बाद आप की कविता पढ़ कर मन प्रसन्न हो गया…! 🙂

  4. Harish Chandra Lohumi says:

    जिससे ज़्यादा प्रॉफिट होवे उसी की आए डोली !
    लाला जी का घर भर जाये चाहे बिके किसी की खोली 🙂
    बहुत अच्छी रचना हास्य के माध्यम से तगड़ा प्रहार !
    बधाई राजीव जी ! बधाई !
    (कुछ शब्द गलत प्रिंट हुए हैं सम्भव हो तो कर दीजिये उनका सुधार । ये लाला जी तो नहीं सुधरने वाले 🙂 )

  5. siddha nath singh says:

    सत्य वचन

  6. अति उत्तम , हमारे मन की बात को आपनें खूबसूरत अंदाज में कह डाला – बधाई
    दूल्हा बेचनें और खरीदनें के चक्कर में लोग ये भूल जातें है की बहु , बेटी के भी कुछ सपनें होते है जिन्हें नजर अंदाज कर दिया जाता है

Leave a Reply