« »

न्यूटन का तीसरा नियम

1 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

लगा दी गई है

पूरी ताकत

अपने को नकारने में I

 

फेकती है निरंतर

सभ्यता

नैतिकता

पत्थर बना इच्छाएं

पूरे वेग से

मन के कुँए में I

 

 

तभी

होता है विस्फोट

जागता है न्यूटन का

तीसरा नियम I

 

 

दो गुने वेग से

लौटती हैं प्रतिध्वनियाँ

कानों के पर्दों को चीथ I

 

 

हाँ मुझे तुमसे प्रेम है

प्रेम है मुझे तुमसे

मैं तुमसे प्रेम करता हूँ I

3 Comments

  1. siddha Nath Singh says:

    प्रेम का विस्फोट इतने प्रभावशाली तरीके से किया ,मज़ा आ गया.

  2. Vishvnand says:

    अति सुन्दर लिखा है, बधाई

    बहुत खूबसूरत अंदाज़
    और उसका रचना में विस्फोट
    न्यूटन भी खुश हुआ होगा
    पढ़कर अपने सिद्धांत पर ऐसा quote…

  3. prachi sandeep singla says:

    what imagery,,wow!!

Leave a Reply