« »

रह गई खाली जगह जो

1 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

रह गई खाली ज़गह जो
रहेगी खाली
रही ही
आएगी 
खाली
तुम्हारे लौटने तक।

शेष
केवल प्रतीक्षा
निःशब्द होने तक
यहाँ।

मुस्कुराते मौन
की मोनालिसा अल्हड़ 
यूं रही थम
थम गया ज्यों
एक निर्जन दिन बरसता
चित्त में।

काश!
बरसा किये वह
बरसों बरसता
ही बरसता
लिए
तुमको साथ।
**********************

3 Comments

  1. prachi sandeep singla says:

    awesome 🙂

  2. Vishvnand says:

    बहुत सुन्दर बात
    पढ़कर
    हो गए
    तुम्हारे साथ ….

    बधाई …

  3. pabitraprem says:

    आभार प्राचीजी.
    स्नेह स्वीकार विश्वजी .

Leave a Reply